बंधा हुआ सा दिल

कही अनकही बातें

Anisha

Anisha

13 days ago|less than a minute read

158

ऐसा लगता है बहुत सालों बाद खुलके साँस मैंने ली है

दिमाग को छोड़ कर दिल की मैंने सुनी है

बंधे हुए दिल को खुलके बोलने का मौका देकर खुद से है मिली हूँ मै

आज ऐसा लगा सिर्फ ज़िंदा नहीं जी भी रही हूँ मै

बहुत सालों बादआज ऐसा लगा है

पहली बार खुश होने की वजह ढूंढ़नी नहीं पड़ी है मुझे

158

Anisha

Author

Anisha

Hi, I'm Anisha. The only problem I have is I’m poetically inclined and creatively crazy !!

Comments

more

Read More